Breaking News
Home / क्रिक्समय खबर / यह सही नहीं है कि धोनी से हो पंत की तुलना: शिखर धवन

यह सही नहीं है कि धोनी से हो पंत की तुलना: शिखर धवन

प्रत्युष राज, मोहाली
टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज में धोनी की छवि देखी जा रही है। क्रिकेट के जानकार यही अनुमान लगा रहे हैं कि 37 के हो चुके धोनी अब जब अपने गलब्स उतारेंगे, तो संभवत: पंत ही वह खिलाड़ी होंगे, जो टीम इंडिया के लिए गलब्स थामेंगे। लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जा रही वनडे सीरीज में आखिरी दो वनडे के लिए धोनी को रिप्लेस कर रहे पंत विकेटकीपिंग में फीके नजर आए। भारतीय टीम की फील्डिंग के दौरान उन्होंने हाथ आए कई मौके गंवा दिए।

कंगारू पारी के 39वें ओवर चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव की बॉल पर पीटर हैंड्सकॉम्ब जब क्रीज से बाहर निकले, तो उन्हें अंदाजा नहीं था कि वह विकेट से कितने दूर पहुंच गए हैं। इस गेंद पर हैंड्सकॉम्ब पूरी तरह चूक गए। यहां गेंद उनके पैड से टकराती हुई सीधे पंत की ओर पहुंची। पंत के पास यहां उनकी गिल्लियां बिखेरने का मौका था लेकिन वह चूक गए। हालांकि यह मुश्किल चांस था, लेकिन इस स्तर की क्रिकेट में आपको ऐसे मौके भुनाने पड़ते हैं।

इसके बाद पारी के 44वें ओवर में एक बार फिर 21 वर्षीय यह युवा विकेटकीपर स्टंप करने से चूक गया। इस बार एश्टन टर्नर का विकेट उनके हाथ से निकल गया। इस बार बाहर फेंकी गई इस गेंद को वह ठीक से क्लेक्ट नहीं कर पाए। बाद में एश्टन टर्नर की यह पारी मैच में निर्णायक साबित हुई और भारत यहां जीती हुई बाजी हार गया।

मुश्किल परिस्थितियों में ऋषभ पंत दबाव में नजर आ रहे थे। पंत की इन गलतियों के बाद मोहाली के मैदान पर मैच देखने आए दर्शकों ने ‘धोनी-धोनी’ की पुकार शुरू कर दी। मतलब साफ था कि फैन्स अब यहां धोनी को मिस कर रहे थे।

हालांकि मैच के बाद इस युवा विकेटकीपर बल्लेबाज को अपने साथी खिलाड़ी शिखर धवन से समर्थन जरूर मिला। मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में आए शिखर धवन से जब पंत पर सवाल किए गए, तो इस लेफ्टहैंडर बल्लेबाज ने कहा, ‘यह सही नहीं है कि इस युवा खिलाड़ी की तुलना दो बार के विश्व-विजेता कप्तान (धोनी) के साथ हो।’

उन्होंने कहा, ‘आप माही भाई के साथ पंत की तुलना नहीं कर सकते। धोनी ने बहुत क्रिकेट खेला है, जबकि पंत अभी बहुत युवा है। हमें उनके साथ संयम बरतना होगा। वह महान प्रतिभा के धनी हैं।’

शिखर धवन ने कहा, ‘यह सच है कि अगर वे स्टंप ले लिए जाते, तो इस मैच की तस्वीर कुछ और होती, लेकिन यह एक खेल था, जिसमें ऐसा होता है।’ इस लेफ्टहैंडर ने कहा कि इन मिस चांस के अलावा मैदान पर पड़ने वाली ओस से भी टीम को नुकसान हुआ।

उन्होंने कहा, ‘हमने परिस्थितियों को भांपने में लगातार दूसरी बार गलती की है। यहां ओस ही सबसे बड़ा कारण था, जिसके चलते हम मैच हार गए। टर्नर ने उम्दा पारी खेली और वह इस मैच को हमारी पकड़ से दूर ले गए। हमने ऐसी आशा भी नहीं की थी कि मैदान पर इतनी ज्यादा ओस गिरेगी।’

About admin

Check Also

विश्व कप से पहले आखिरी मैच खेलने उतरेगी टीम इंडिया, हर हाल में ऑस्ट्रेलिया को देनी होगी मात

विश्व कप से पहले आखिरी मैच खेलने उतरेगी टीम इंडिया, हर हाल में ऑस्ट्रेलिया को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *